गौरी लंकेश हत्या मामले में पुलिस ने जारी किया हत्यारों का स्केच

गौरी लंकेश हत्या मामले में पुलिस ने जारी किया हत्यारों का स्केच

Posted by

बंगलूरू। वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या मामले में पुलिस को हत्यारों के खिलाफ कोई ठोस सबूत हाथ नही लगे।  हत्या के लगभग एक महीने के बाद शनिवार को पुलिस ने संदिग्ध हत्यारों का स्केच जारी करते हुए कहा कि जांच टीम सही दिशा में आगे बढ़ रही है और उन्हें उम्मीद है कि वे शीघ्र ही हत्यारों तक पहुंच जायेगी। मामले की जांच कर रही SIT टीम के मुखिया बीके सिंह ने कहा कि कुछ ठोस सबूतों पर मिली जानकारी के आधार पर हमने ये स्केच जारी किये हैं। वे लोगों से अपील करते हैं कि इन संदिग्धों की पहचान में उनका सहयोग करें।

 

जाँच अधिकारी ने बताया कि इस मामले में सीसीटीवी फुटेज उनके बहुत काम की साबित हुई है और उसके आधार पर जांच आगे बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन अभी तक उनकी बिलकुल सटीक पहचान नहीं हो सकी है। इसीलिए उन्हें ये स्केच जारी करने पड़े हैं। एक सवाल के जवाब में बीके सिंह ने कहा कि हमलावरों के धार्मिक विचार के बारे में अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता क्योंकि अक्सर ऐसे अवसरों पर अपराधी अपनी पहचान छिपाने के लिए ऐसे वस्त्रों या प्रतीकों का इस्तेमाल कर लेते हैं जिससे पुलिस उन्हें पहचान न सके। ऐसे में हमलावरों को किसी धर्म से जोड़ना सही नहीं होगा।

गौरी लंकेश वरिष्ठ पत्रकार थीं और वे अपने दक्षिणपंथी सोच के खिलाफ कड़े रुख के लिए जानी जाती थी। वे एक साप्ताहिक पत्रिका ‘लंकेश पत्रिके’ का सम्पादन भी संभालती थीं। उनकी हत्या से पूर्व भी उनके लेखों के लिए उन्हें धमकियां मिली थी जिसे उन्होंने बहुत गंभीरता से नहीं लिया था। कुछ लोगों का मानना है कि ऐसे लेखों के कारण ही उनकी हत्या की गयी होगी। हलांकि जांच के दौरान ये बात भी सामने आयी थी कि वे कुछ दिनों से नक्सलियों के बारे में भी सक्रिय थीं जिसकी वजह से कुछ नक्सली भी उनके खिलाफ हो गए थे।गौरी की हत्या को पत्रकारिता जगत में बहुत गंभीरता से लिया गया था। बंगलूरू से लेकर दिल्ली तक उनकी हत्या के विरोध में आवाज उठी थी।