गुजरात चुनाव: कांग्रेस का घोषणापत्र जारी, पाटीदारों को आरक्षण, सस्ते पेट्रोल-डीजल और बिजली 

गुजरात चुनाव: कांग्रेस का घोषणापत्र जारी, पाटीदारों को आरक्षण, सस्ते पेट्रोल-डीजल और बिजली 

Posted by

अहमदाबाद: गुजरात विधानसभा चुनाव पांच दिन पहले कांग्रेस ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है। जिस मुद्दे पर सभी की निगाहें टिकी थीं उसपर पत्ते खोलते हुए कांग्रेस ने पाटीदारों और सवर्णों को ईबीसी और आरक्षण के लाभ का वादा किया है। साथ ही 49 % आरक्षण में बदलाव के बगैर आरक्षण देने की बात भी कही है। गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने यह घोषणापत्र जारी करते हुए खुशहाली इंडेक्स को इसका मुख्य हिस्सा बताया। घोषणापत्र में राज्य में अल्पसंख्यक आयोग बनाने का वादा किया गया है। साथ ही किसानों से फसल बोने से पहले ही न्यूनतम समर्थन मूल्य देने का वादा भी किया है। पेट्रोल-डीजल और बिजली को सस्ता करने का वादा भी किया गया है।इस मौके पर उन्होंने कहा कि गुजरात के लोगों को पता है कि खुद का विकास कैसे करना है। विकास की अंधी दौड़ नहीं होनी चाहिए, विकास का मतलब खुश रहना होता है। उन्होंने कहा कि काफी सोच-विचार के बाद यह घोषणापत्र तैयार किया गया है। क्या है इस घोषणापत्र में?-किसानों को फसल बोने से पहली ही मिलेगा न्यूनतम समर्थन मूल्य।-शहरी गरीबों के लिए 25 लाख घरों की घोषणा।

-महिलाओं के लिए 24 घंटे हेल्पलाइन, पहली कक्षा से कॉलेज तक मुफ्त शिक्षा, अकेली महिलाओं के लिए घर को प्राथमिकता, महिला उद्यमियों को प्रोत्साहन-पेट्रोल-डीजल के दामों में 10 रुपये तक की कटौती। -पाटीदारों और सवर्णों को ईबीसी और आरक्षण के लाभ का वादा, 49 % आरक्षण में बदलाव के बगैर आरक्षण देने की बात। -खिलाड़ियों को स्कॉलरशिप, नए मैदानों का निर्माण।-सभी जिलों में छात्रों के लिए हॉस्टल। आबादी के आधार पर खुलेंगे स्कूल।-युवाओं के लिए 32 लाख करोड़ रुपयों का आवंटन, खत्म होगा कॉन्ट्रैक्ट सिस्टम, जीआईडीसी में उद्यमियों को 200 स्क्वायर मीटर प्लॉट-पार्टी ने 16 घंटे बिजली, उद्योगों के विकास, सैटलाइट मैपिंग के स्थान पर पारंपरिक तरीकों से नपाई करने को बढ़ावा देने की बात कही है।-सभी के लिए सरदार पटेल यूनिवर्सल हेल्थकार्ड।-धोखाधड़ी, विश्वासघात के मामलों के लिए फास्टट्रैक कोर्ट, नमक उत्पादन के लिए सोलर पंप।-मक्के और बाजरे की फसल को फेयर प्राइस शॉप पर बेचने के वादा।-सौर ऊर्जा के इस्तेमाल को प्रोत्साहन, छोटे उत्पादकों के लिए प्रावधान, दिहाड़ी मजदूरों के लिए डॉ बाबा साहब अंबेडकर कार्ड, फास्ट ट्रैक कोर्ट।सोलंकी ने घोषणापत्र जारी करते हुए कहा कि राज्य में किसी को भी भूखे पेट नहीं सोना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य के बड़े शहरों की सड़कों पर कोई भिखारी नहीं होना चाहिए। उन्होंने बीजेपी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में इन्फ्रास्ट्रक्चर का विकास किया जबकि बीजेपी ने उसका निजीकरण शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अस्पतालों और शिक्षण संस्थानों का विकास करना चाहती है।