गुजरात चुनाव: भाजपा v/s कांग्रेस कौन होगा विजयी? जाने ओपिनियन पोल में

गुजरात चुनाव: भाजपा v/s कांग्रेस कौन होगा विजयी? जाने ओपिनियन पोल में

Posted by

नई दिल्ली। गुजरात मे चुनाव का दौर है। हर पार्टी वोटरों को लुभाने मे लगी है और हर पार्टी एक-दूसरे की खींचतान मे लगी हुई है। आपको पता ही है चुनाव का दौर है तो हर मीडिया ग्रुप जनता का ओपिनियन लेता फिर रहा है। आप सबको पता ही होगा ओपिनियन जनता का कम तराजू मे पैसा व सत्ताधारी दल के दवाब का ज्यादा होता है लेकिन हमारा “राष्ट्रधारा” ग्रुप इन सब दवाबों से दूर होकर एक निष्पक्ष ओपिनियन लेकर आ रहा है। हमारा “राष्ट्रधारा” ग्रुप कुछ दिनों पहले हमारी टीम के अथक प्रयासों से हिमाचल प्रदेश का ओपिनियन लेकर आया था हमारे उस ओपिनियन को आप सबने सोशल मीडिया पर वायरल भी किया उसके लिये सभी पाठकों का धन्यवाद।

हमारी टीम पिछले दो महीनों सितंबर-अक्तूबर से गुजरात की जनता के बीच थी और हमारी टीम ने गुजरात की जनता के बीच जाकर 90विधानसभा सीटों से 1800 लोगों से बात की। हमने हर विधानसभा के लिये 20लोगों से बात करने का लक्ष्य रखा था क्योंकि हमारी टीम छोटी है और हमारी टीम ने पूरी निष्ठा से गुजरात की 90विधानसभाओं मे जाकर उन 20-20 लोगों से मिली जिनका राजनीति से दूर-दूर तक कोई नाता ना रहा हो। हमारी टीम ने उन मतदाताओं से बात की जो सिर्फ मतदान करते हैं सत्ताधारी दल से बिना कोई आश लगाये। हमारी टीम का लक्ष्य एक निष्पक्ष ओपिनियन लेने का था इसीलिये हम उन लोगों तक पहुंचे जो सिर्फ मतदान करते हैं बिना किसी दल या नेता के करीबी नही होते। गुजरात के लिये हमारी टीम मे सिर्फ 12 सहयोगी थे इन 12 सहयोगियों मे 4 गुजरात से थे जिन्होंने हमारी टीम के लिये गुजराती मे बात करने मे ट्रांसलेटर का काम किया।

हमारी टीम ने इस सर्वे को पूरा किया और सभी सीटों के नतीजे का ओपीनियन तय किया। ये सर्वे दो तरां सवालों के साथ करना पडा क्योंकि अभी तक हार्दिक पटेल ने अपने पत्तों को नही खोला बेशक हार्दिक पटेल ने कांग्रेस की पक्षधारी करने की हामी भरी हो। कल खबरों मे भी आया की हार्दिक पटेल ने पटेलों के आरक्षण पर कांग्रेस को 3नवबंर तक अपना पक्ष स्पष्ट करने को कहा है।

अब हम अपने ओपिनियन पोल से पर्दा हटाते हैं और गुजरात की संभावित स्थिति को आपके सामने रखते हैं।

1. अगर हार्दिक पटेल कांग्रेस के साथ आते हैं तो ये होगी स्थिति।

बीजेपी: 32 (90 सीटों में से) 64 (180सीटों में से) 2 सर्वे से बाहर
कांग्रेस: 52 (90 सीटों में से) 104 (180सीटों में से) 2 सर्वे से बाहर
अन्य: 6 (90 सीटों में से) 12 (180सीटों में से) 2 सर्वे से बाहर

2. अगर हार्दिक पटेल कांग्रेस से दूरी बना लेते हैं तो संभावित स्थिति।

बीजेपी: 42 (90 सीटों में से) 84 (180सीटों में से) 2 सर्वे से बाहर
कांग्रेस: 39 (90 सीटों में से) 78(180सीटों में से) 2 सर्वे से बाहर
अन्य: 9 (90 सीटों में से) 18 (180सीटों में से) 2 सर्वे से बाहर

(नोट: ये सिर्फ ओपिनियन पोल हैं सभी मतदाता अपनी सोच-समझ व अपने धैर्य से वोट दें, हम किसी भी राजनीतिक दल के करीबी नहीं हैं)

इस बार गुजरात चुनाव के समीकरण बेशक कांग्रेस के पक्ष मे बन रहे हो लेकिन इस बात से दरकिनार नही किया जा सकता कि जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं बीजेपी को थोडा उछाल मिलता जा रहा है। कांग्रेस को पिछले दिनों अहमद पटेल पर लगे आरोपों का खामियाजा भुगतना पड सकता और कश्मीर मुद्दे पर पूर्व वित्तमंत्री पी• चिदम्बरम द्वारा की गई बयानबाजी भी कांग्रेस के खेल को बिगाड सकती है आप सबने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा इस मुद्दे को मंच से उठाना दर्शाता है कि बीजेपी अब पूरे गुजरात चुनाव मे इस मुद्दे को भुनायेगी।

इस मुद्दे को विफल करने के प्रयास मे कांग्रेस नेता शक्ति सिन्ह गोहिल बीजेपी की प्रचार सामग्री का मेड-इन-चाईना की होने का मुद्दा निकाल लाये हैं। शक्ति सिन्ह गोहिल बीजेपी की प्रचार सामग्री के बिल की रशीद निकाल लाते हैं और उसको पोस्ट कर तंज कसते हुये अपने समर्थकों व मीडिया को इसे उजागर करने को कहते हैं।

गुजरात का ओपिनियन पोल हमने आपके सामने रखा है लेकिन दोस्तों देखते जाईये गुजरात की चुनावी जंग क्या रंग लाती है, किसको रखेगी सत्ता मे और किसको बेदखल करवाती है।
गुजरात चुनाव के रोमांच को जान रोमांचित होते रहिये हमारे “राष्ट्रधारा” ग्रुप के संग।