वरुण हिंदू तो राहुल गांधी ग़ैर-हिंदू कैसे?

वरुण हिंदू तो राहुल गांधी ग़ैर-हिंदू कैसे?

Posted by

नई दिल्ली। राहुल गांधी सोमनाथ मंदिर जाने के बाद से  उनके धर्म पर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा हैं।बीजेपी ने राहुल पर सोमनाथ मंदिर में रखे ग़ैर-हिंदुओं के रजिस्टर में नाम-पता दर्ज करने का आरोप लगाया. लेकिन कांग्रेस ने इसे फ़र्ज़ी क़रार दिया.कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक तस्वीर शेयर की गई जिसके नीचे लिखा था ”सोमनाथ मंदिर में आने वालों के लिए सिर्फ़ एक ही रजिस्टर है और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उसी में दस्तखत किए थे.

 

भाजपा प्रवक्ता राजू ध्रुव ने कहा, “कांग्रेस ने हमेशा राहुल गांधी को एक हिंदू के तौर पर दिखाने की कोशिश की, लेकिन तथ्य यह है कि वह हिंदू नहीं हैं. राहुल गांधी ने अक्टूबर से 20 से ज्यादा हिंदू देवी-देवताओं के मंदिरों का दौरा किया है. कांग्रेस झूठ बोल रही है. दाखिल की गई प्रविष्टि दिखाती है कि वह हिंदू नहीं हैं.”गुजरात चुनाव और मंदिर में राहुल गांधी!’धर्म का सवाल तो सोनिया से भी पूछा गया था…’

 

 

वरुण हिंदू तो राहुल ग़ैर-हिंदू कैसे?

कांग्रेस की छवि मुसलमानों की हिमायत करने वाली पार्टी की रही है. जिसका सीधा फ़ायदा हिंदू वोटरों के रूप में भारतीय जनता पार्टी को होता आया है. लेकिन अब कांग्रेस ने भी ‘नरम हिंदुत्व’ की तरफ़ मुड़ना शुरू किया है तो वोटरों को रोकने के लिए ऐसे विवाद खड़े किए जा रहे हैं.”प्रशांत दयाल ने सवाल किया ”जो लोग वरुण गांधी को हिंदू मानते हैं वो राहुल गांधी के धर्म पर क्यों सवाल उठा रहे हैं? वरुण और राहुल के दादा एक ही थे. अगर वरुण गांधी हिंदू है तो राहुल ग़ैर-हिंदू कैसे हो सकते हैं?”वरुण गांधी सुल्तानपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के सांसद हैं और उनकी मां मेनका गांधी भी भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री हैं.राहुल को प्रमोशन तो कितने बदलेंगे गुजरात के समीकरण?माता का जयकारा क्यों लगा रहे हैं राहुल गांधी?