दिल्ली: मसीहा बन बाइक सवारों ने अपहरणकर्ताओं से एक महिला को बचाया

दिल्ली: मसीहा बन बाइक सवारों ने अपहरणकर्ताओं से एक महिला को बचाया

Posted by

नई दिल्ली। रविवार (7 अगस्त) को बाइक सवार युवाओं के एक समूह ने एक ऐसी महिला के लिए मशीहा बने जो एक कार में तीन लोगों द्वारा अपहरण कर ली गई थी। युवा ढाबे में खाना खा रहे थे  जब उन्होंने  महिला की चिल्लाने की आवाज सुनी। उन्होंने अपनी बाइक पर पीछा करने के बाद उसे बचा लिया। अपहरणकर्ताओं में से दो को पुलिस को सौंप दिया, जबकि तीसरा भाग निकला।

 

रात नौ बजे करीब युवकों ने सुना है कि महिला बेगमपूर चौक के नज़दीक मदद के लिए चिल्ला रही थी। उनकी मोटरसाइकिल पर कार का पीछा करने के बाद, उन्होंने उसे रोक दिया और महिला को बचाया। एक छोटी सी झड़प के बाद पुरुषों को बाहर खींच लिया गया अमान गोयल ने कहा, “जब हमने महिला को बचाया तब महिला सदमे में थी।

जब तक पुलिस पहुंची इकट्ठा हुई भीड़ ने कार पर पत्थरों की बरसात शुरू कर दी। इससे पहले कि पुलिस  भीड़ को काबू करती उन्होंने कार को आग लगा दी। फायर डिपार्टमेंट को आग बुझा कार को सबूत के रूप में जब्त कर लिया हैं।

पीड़ित जो 20 वर्ष की है उसने पुलिस को बताया कि वह मंगोलपुरी के निवासी है और वह अपहर्ता के एक व्यक्ति को जानता थी। रोहिणी में एक घरेलू सहायता के रूप में काम करते समय वह उससे मिले थी। जब वह शनिवार को घर लौट रही थी, तो उसने संपर्क किया और उनकी कार में लिफ्ट की पेशकश की। जब वह गाड़ी बैठ गई, तो उसने दो अन्य को कार पाया। कुछ दूरी तय के बाद, युवाओं ने उन्हें आपत्तिजनक रूप छूना शुरू कर दिया उन्होंने उसके कपड़े भी उतारने की कोशिश की।

 

 

पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि “हमने भारतीय दंड संहिता की धारा 354 बी (हमला करने के इरादे से महिला को हमला या आक्रमण के इस्तेमाल के लिए) और 362 (अपहरण) के तहत एक मामला दर्ज किया है। हमने पाया है कि महिला एक आरोपी के संपर्क में थी,” डीसीपी (बाहरी) एमएन तिवारी तीसरे आरोपी को पकड़ने के लिए खोज चल रही है।