सुदीप सुरजेवाला ने दिया अधिकार रैली का न्यौता

सुदीप सुरजेवाला ने दिया अधिकार रैली का न्यौता

Posted by

कैथल 10 दिसम्बर 2017
आए दिन देश प्रदेश में बढ़ रहे किसानों और नौजवानों पर अत्याचार कब जागेंगे सत्तासीन हुक्मरान उक्त वक्तव्य आज किसान भवन अपने निवास पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुदीप सुरजेवाला ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहे। सुदीप सुरजेवाला ने कहा कि आज भाजपा सरकार को केन्द्र व प्रदेश की सत्ता में आए तीन साल से ज्यादा हो गए हैं लेकिन आज देश व प्रदेश में किसानों और आम जनमानस पर बेवजह के अत्याचार ने भाजपा के जन विरोधी चेहरे को बेनकाब किया हैं। चुनावों से पहले जनता को लुभावने वादों के सपने दिखाने का जो कार्य मोदी और खट्टर सरकार ने किया था आज वो एक जुमला साबित होकर रहा गया है। भाजपा केन्द्र और राज्य में जनता से अच्छे दिनों की सौगात और किसानों की फसलों की लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा व स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने के वादे से सत्ता में आई लेकिन आज भाजपा सरकार ने चुनावों में किए गए सभी वायदों से अपने आपको दूर कर लिया है और देश व प्रदेश में आम जनमानस व किसान को गर्क में धकेलने का काम किया है।

कांग्रेसी नेता सुदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा नासमझी तरीके से नोटबंदी और जीएसटी के तुगलकी फरमान ने भी इस देश की अर्थव्यवस्था पर एक करारा प्रहार किया है। हर साल नौजवानों को 2 करोड़ रोजगार देने का वायदा भी जुमला साबित हुआ है। चंद उधोगपतियों को लाभ पहुँचाने के लिए मोदी सरकार ने इस देश के किसान वर्ग, मजदूर वर्ग, गरीब और छोटे छोटे दुकानदारों की पीठ पर छुरा घोंपने का काम किया है। भारत की जनता खासकर दुकानदार, व्यापारी, लघु एव कुटीर उधोग मोदी के गब्बर सिंह टैक्स की नौसिखिया संरचना, बनावट और क्रियान्वन से आज भी बहुत ही हताश व निराश हैं। इसलिए किसान, मजदूर, गरीब और आमजनमानस के हितों की लड़ाई के लिए कुरुक्षेत्र किसान खेत मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अमन चीमा की अध्यक्षता में आने वाली 16 दिसम्बर दिन शनिवार को सुबह 10 बजे पिहोवा की अनाज मण्डी में भाजपा सरकार की तानाशाही नीतियों के खिलाफ “अधिकार रैली” का आयोजन किया जाएगा। जिसके बतौर मुख्यातिथि अखिल भारतीय कांग्रेस मीडिया प्रभारी व कैथल से मौजूदा विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला रहेंगे।

सुदीप सुरजेवाला ने इस अधिकार रैली में सभी जनों से अधिक अधिक से संख्या में शामिल होने की अपील की।