सुरजेवाला बोले- हरियाणा में अपराध की दर बिहार, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों से भी हुई बदतर

सुरजेवाला बोले- हरियाणा में अपराध की दर बिहार, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों से भी हुई बदतर

Posted by

हरियाणा में औसतन हर दिन 10 अपहरण, 3 हत्या, 3 बलात्कार, 43 ऑटो चोरी और 60 चोरी मामले हुए दर्ज

चंडीगढ़, 3 दिसंबर 2017
वरिष्ठ कांग्रेस नेता और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संचार विभाग के प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि भाजपा शासन में हरियाणा अपराध का हब बन गया है। ‘राज्य में कानून और व्यवस्था के पूर्ण पतन’ के लिए उन्होंने राज्य सरकार को दोषी ठहराया है।

आज यहाँ जारी एक बयान में  सुरजेवाला ने कहा कि भारत सरकार की ओर से जारी नवीनतम राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट ने प्रदेश सरकार को अपराध को नियंत्रित करने के मामले में पूरी विफलता की पोल खोल दी है । भाजपा शासन के दौरान प्रदेश में जघन्य अपराधों में जबरदस्त तेजी आई है और राज्य सरकार की अक्षमता ने हरियाणा को एक अपराध हब के रूप में शर्मनाक ढंग से प्रतिस्थापित किया है। उन्होंने कहा कि 2016 में अपराध दर में वृद्धि में हरियाणा राज्य को देश के सभी राज्यों में तीसरा स्थान पर रहा है ।

श्री सुरजेवाला ने कहा कि वर्ष 2016 में हरियाणा में 1 लाख की आबादी पर औसतन 320.6 मामले दर्ज हुए, जो बिहार और उत्तर प्रदेश की अपराध दर से भी अधिक है। हरियाणा को हमेशा शांतिप्रिय राज्य माना जाता रहा है, लेकिन तीन सालों से हरियाणा में अपराध बढ़ता जा रहा है और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत क्रमश: 2014, 2015 और 2015 में क्रमशः 79,947, 84,466 और 88,527 मामले दर्ज किए गए।

हत्या, बलात्कार, सामूहिक बलात्कार और अपहरण के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जाहिर करते हुए  सुरजेवाला ने कहा राज्य में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है । सुरजेवाला ने कहा कि राज्य में 2016 में हत्या के 1090; बलात्कार के 1198; सामूहिक बलात्कार के 191 और अपहरण के 4,019 पीड़ित मामले दर्ज हुए, जिसका मतलब है की प्रदेश में हर रोज़ लगभग तीन हत्याएं; तीन बलात्कार और 11 अपहरण की घटनाएं घटी। एनसीआरबी आंकड़ों से पता चलता है की हरियाणा पुलिस 31 दिसंबर 2016 तक 3,795 अपहरण पीड़ितों को अपहरणकर्ताओं से छुड़ाने में भी विफल रही। हत्या और अपहरण की घटनाओं में हरियाणा की अपराध दर देश में तीसरी सबसे अधिक है, जबकि यह शर्मनाक रूप से सामूहिक बलात्कार में सबसे ज्यादा रही।

सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा शासन में आम आदमी अपने जीवन या संपत्ति के बारे में पूरी तरह से असुरक्षित महसूस कर रहा है, पिछले एक साल में राज्य में 21,741 चोरी मामले; 15,634 वाहन चोरी के मामलों; 320 जबरन वसूली के मामलों; 734 डकैती; 178 डकैती और 1070 आगजनी के मामले दर्ज हुए, जो हरियाणा में कानून और व्यवस्था की दुखद कहानी का हाल बताते हैं।

सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा राज्य को हमेशा से सामाजिक सद्भाव बनाए रखने के अपने बेहतरीन रिकॉर्ड के लिए जाना जाता था, लेकिन गलत पुलिस व्यवस्था और समाज को बाँटने की राजनैतिक प्राथमिकताओं के चलते हरियाणा में देश में सर्वाधिक 250 सांप्रदायिक दंगे और 2,844 अन्य दंगों की घटनाएं घटी ।