जयपुर : ऐसा क्या हुआ जो मोदी सरकार के मंत्री को पेड़ पर चढ़ना पड़ा – पढ़िए

जयपुर : ऐसा क्या हुआ जो मोदी सरकार के मंत्री को पेड़ पर चढ़ना पड़ा – पढ़िए

Posted by

मामला केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल से जुड़ा है जो एक अस्पताल का दौरा करने निकल पड़े, जब उन्हें पता चला की अस्पताल मैं नर्स ही नहीं है। लोगो की शिकायत पर केंद्रीय मंत्री अस्पताल पहुंचे और नर्स के न होने पर अधिकारीयों से बात करने के लिए जब मोबाइल निकला तब उनके मोबाइल मैं सिग्नल ही नहीं थे। बहुत कोशिश की, परन्तु मोबाइल मैं सिग्नल नहीं आये।

 

अर्जुन मेहघवाल जनता की समस्याओं को सुनने के लिए जाने जाते हैं।  डिजिटल इंडिया की हर तरफ धूम है, लेकिन असलियत क्या है इसका आइना केंद्रीय वित्तराज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल ने अपनी ही सरकार को दिखा दिया. हुआ यूं कि मंत्रीजी बीकानेर के ढोलिया गांव के दौरे पर थे, वहां के लोगों ने शिकायत की कि उनके अस्पताल में नर्स नहीं हैं. अर्जुन मेघवाल ने तुरंत अपना मोबाइल निकाल कर बीकानेर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से बात करने की कोशिश की, लेकिन मोबाइल का सिग्नल ही गुल था. गांववालों ने कहा कि पेड़ पर चढ़ने से सिग्नल मिल सकता है इसलिए मंत्रीजी के लिए सीढ़ी मंगवाई गई. सीढ़ी को पेड़ के सहारे रखा गया और उस पर चढ़ कर अर्जुन मेघवाल ने निर्देश दिए कि अस्पताल में नर्स नियुक्त की जाए. इससे पता चलता है कि डिजिटल इंडिया के भले ऊंचे-ऊंचे दावे किए जा रहे हों, लेकिन कई जगह बिना ऊंचे पेड़ पर चढ़े उसमें शामिल होना आसान नहीं है.

 

अर्जुन मेघवाल वही नेता हैं जो पर्यावरण को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए साइकिल से ही संसद जाते रहे हैं. दलित वर्ग से जुड़े मेघवाल की पहचान तेजतर्रार नेता के रूप में है. पर्यावरण संरक्षण के हितैषी मेघवाल को अक्सर साइकिल से संसद जाते हुए देखा जा सकता हैं. वह बीकानेर से सांसद हैं.