ट्रिपल तलाक़ पर कांग्रेस का सवाल, जेल में रहेगा पति तो कौन देगा बीवी को मुआवजा

ट्रिपल तलाक़ पर कांग्रेस का सवाल, जेल में रहेगा पति तो कौन देगा बीवी को मुआवजा

Posted by

नई दिल्ली, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी तीन तलाक बिल का समर्थन करेगी, हालांकि कुछ सुझाव सरकार के सामने जरूर रखे जाएंगे. कांग्रेस की ओर से ये दो बड़े सुझाव दे सकती हैं.

1. तलाक के बाद मुस्लिम महिला को कितना भत्ता मिलेगा, पत्नी को पति की आय का कितना हिस्सा मिलेगा. इसका फॉर्मूला क्या होगा.

2. अगर पति तीन साल के लिए जेल जाएगा, तो पत्नी को भत्ता किस प्रकार मिलेगा.

 

सूत्रों की मानें, तो पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में बुधवार देर रात कांग्रेसियों इस मुद्दे पर बैठक की. सूत्रों के मुताबिक बैठक में तीन तलाक बिल के पक्ष में कांग्रेस दिखी थी. ऐसे में मुमकिन है कि इस बिल को पास करवाने में केंद्र सरकार को कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस ने तीन तलाक या तलाक-ए-बिद्दत के मुद्दे को हमेशा इस मापदंड पर आंका है कि महिला अधिकारों की सुरक्षा हो और महिलाओं की बराबरी संविधान सर्वमत्ति तरीके से हो. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तीन तलाक के बारे में उच्चतम न्यायालय के निर्णय का स्वागत किया था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस तीन तलाक को प्रतिबंधित करने वाले कानून का समर्थन करती है. हमारा यह मानना है कि महिलाओं के संगठन और मुस्लिम संगठनों की राय के अनुसार इस कानून को और पुख्ता बनाने की आवश्यकता है.

महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा कि प्रस्तावित विधेयक में मुस्लिम महिला को गुजारा भत्ता देने की बात कही गई है. किंतु गुजारे के निर्धारण का तौर तरीका नहीं बताया गया है, सरकार को इस बारे में व्याख्या करनी चाहिए. सुष्मिता ने कहा कि 1986 के मुस्लिम महिला संबंधी एक कानून के तहत तलाक पाने वाली महिलाओं को गुजारा भत्ता मिल रहा है. कहीं नए कानून के कारण उन्हें यह गुजारा भत्ता मिलना बंद न हो जाए.