#GirlsWhoDrinkBeer पार्रिकर के बयान पर लड़की बोली हम तो पोर्न भी देखते है

#GirlsWhoDrinkBeer पार्रिकर के बयान पर लड़की बोली हम तो पोर्न भी देखते है

Posted by

पणजी शुक्रवार को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने  कि उन्हें इस तथ्य से डर लगने लगा है कि अब लड़कियों ने भी बियर पीना शुरू कर दिया है। पर्रिकर की इस बात पर लोग उनसे खफा हो गए हैं। यहां तक कि ट्विटर पर दिनभर #GirlsWhoDrinkBeer नाम से हैशटैग ट्रेंड

 रहा हैं।
 

लोगों ने पर्रिकर पर महिला विरोधी होने का आरोप लगाना शुरू कर दिया है। लोग ट्विटर पर उनसे सवाल कर रहे हैं कि अगर पुरुषों के बियर पीने में कोई खराबी नहीं है, तो महिलाओं के बियर पीने से पर्रिकर को डर क्यों लग रहा है। ट्विटर पर लड़कियां #GirlsWhoDrinkBeer हैशटैग के साथ बियर पीते हुए अपनी फोटो या पर्रिकर के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया पोस्ट कर रही हैं। बड़ी संख्या में पुरुष भी महिलाओं के समर्थन में ट्वीट कर रहे हैं।

लोगों ने ट्विटर पर निकाला गुस्सा

वहीं एक ओर जहां कॉमिडी ग्रुप ईस्ट इंडिया कॉमिडी ने भी पर्रिकर के बयान पर व्यंग्य किया है, संगीतकार विशाल डडलानी ने ट्वीट किया है कि शराब पीने वाली महिलाएं स्मार्ट होती हैं और उन्हें किसी से इजाजत लेने की जरूरत नहीं होती। उन्होंने तंज कसा कि नशे में भी वे (पर्रिकर से) ज्यादा तर्कसंगत बातें करती हैं।

Hey @manoharparrikar. I know women who drink beer, wine, vodka & whiskey & some smoke pot too. They’re all smart, self-sufficient, strong women who don’t need your approval. That said, even when totally wasted, they make more sense than you do.

हालांकि, जहां एक ओर लोग पर्रिकर के बयान की आलोचना करते हुए उसे स्त्री विरोधी बता रहे हैं, वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो इसे स्त्री पुरुष का मुद्दा बनाने की बजाय शराब के नुकसान को समझने की सलाह दे रहे हैं।
यह भी पढ़ें: गोवा: CM पर्रिकर बोले- लड़कियों के बियर पीने की बात से डर गया हूं…सहनशक्ति की सीमा टूट रही है

पर्रिकर के समर्थन में उतरे लोग

#GirlsWhoDrinkBeer हैशटैग का विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि शराब पीना जितना पुरुषों के लिए खराब है उतना ही महिलाओं के लिए भी और इस तरह का हैशटैग चलाकर शराब को बढ़ावा नहीं दिया जाना चाहिए। कई लोगों ने पर्रिकर का समर्थन करते हुए कहा है कि वे छात्र जीवन में शराब से दूर रहने की सलाह दे रहे थे और उनके बयान को उसी नजरिये से देखा जाना चाहिए।